बयान कमलनाथ के भाषा विज्ञप्तिबाज की

मुख्यमंत्री को जनसंपर्क विभाग पर भरोसा क्यों नहीं ?
खबर नेशन / Khabar Nation

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ प्रदेश ही नहीं राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर संजीदा राजनेता के तौर पर जाने जाते हैं । अमूमन मीडिया से दूर रहकर अपने काम से  वास्ता रखना कमलनाथ की एक और खासियत है । लेकिन इन दिनों कमलनाथ के मध्यप्रदेश की राजनीति को लेकर जारी किए जा रहे बयानों में वह गंभीरता नहीं बरती जा रही है जो एक मुख्यमंत्री के पद के अनुकूल हो। सूत्रों के अनुसार सारे बयान सोशल मीडिया के माध्यम से जारी किए जा रहे हैं। शासकीय प्रक्रिया और परंपरानुसार मुख्यमंत्री के बयान जनसंपर्क विभाग के माध्यम से जारी किए जाने चाहिए । जनसंपर्क विभाग से बयान जारी ना होने का कारण बड़ा रोचक है। कांग्रेस के नेताओं के दिलों-दिमाग में एक बात घर कर गई है कि जनसंपर्क विभाग के अधिकारी आज भी पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के आभामंडल में है। इसी के साथ ही कांग्रेस यह मानकर चल रही है कि संपूर्ण मीडिया भी शिवराज के आभामंडल में है। कांग्रेस नेताओं की यह मानसिकता आज से नहीं बल्कि पिछले दस साल से बनी हुई है कि भाजपा और शिवराज के मीडिया मैनेजमेंट के चलते उन्हें भरपूर तव्वजों नहीं मिल पाती है। इन सब के चलते कमलनाथ के सारे बयान प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय से सोशल मीडिया पर जारी किए जा रहे हैं । जिनकी भाषा एक नौसिखिया नेता या विज्ञप्ति बाज हलकी भाषा  की तरह नजर आ रही है।

Share:

Next

बयान कमलनाथ के भाषा विज्ञप्तिबाज की


Related Articles


Leave a Comment