फर्जी आई पी एस बनकर इंदौर नगर निगम का डिप्टी कमिश्नर बन बैठा ठगोरा


फेसबुक पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान , राज्यसभा सदस्य ज्योतिरादित्य सिंधिया , इंदौर लोकसभा सदस्य शंकर लालवानी , कलेक्टर मनीष सिंह , उज्जैन कलेक्टर आशीष सिंह की पत्नी , इंदौर नगर निगम कमिश्नर प्रतिभा एस पाल के साथ जन्मदिन की शुभकामनाओं के चैट के स्क्रीन शॉट डालता रहा

अमन मिश्रा / खबर नेशन / Khabar Nation


इंदौर । मध्यप्रदेश की राजधानी इंदौर में एक युवक अपने आप को फर्जी आई पी एस अधिकारी बताते हुए इंदौर नगर निगम का डिप्टी कमिश्नर बताता रहा । फेसबुक प्रोफाइल पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान , राज्यसभा सदस्य ज्योतिरादित्य सिंधिया , इंदौर लोकसभा सदस्य शंकर लालवानी , कलेक्टर मनीष सिंह , उज्जैन कलेक्टर आशीष सिंह की पत्नी , इंदौर नगर निगम कमिश्नर प्रतिभा एस पाल के साथ जन्मदिन की शुभकामनाओं के चैट के स्क्रीन शॉट डालता रहा । मध्यप्रदेश के कृषि मंत्री कमल पटेल के साथ किसी विनोद दीक्षित को अपना पिताजी बताते हुए इंदौर विधानसभा क्षेत्र क्रमांक एक के विधायक संजय शुक्ला के परिवार के वैवाहिक समारोह का चित्र डालकर लोगों को ठगता रहा । सवाल है सोशल मीडिया पर नजर रखने वाली पुलिस शाखा के अधिकारियों और इंदौर के रसूखदारों को यह सब नज़र क्यों नहीं आया ? आखिर कौन था वह फर्जी आई पी एस और कितने लोगों को चूना लगा गया ।
 कोरोना के बढ़ते संक्रमण को लेकर वर्तमान में शासन- प्रशासान व अन्य सामाजिक संस्था इस संकट की स्तिथी को सुचारू करने में लगी हैं वहीं दूसरी ओर एक शख्स ऐसी विषम परिस्थितियों में जनहित की भावना के साथ खिलवाड़ कर रहा हैं । यह व्यक्ति शहर की जनता को अपनी झूठी पदवी का गलत इस्तेमाल कर आम नागरिकों के साथ ठगी कर रहा हैं । 

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार  योगेश दीक्षित नामक व्यक्ति खुद सोशल मीडिया की अपलोड पोस्ट पर खुद को डिप्टी कमिश्नर नगर निगम बताता हैं । पूर्व में यह व्यक्ति सिटी इंजीनियर था। (फेसबुक द्वारा प्राप्त जानकारी के अनुसार )  । जब योगेश से कुछ लोगों ने फेसबुक के जरिये बात करने की कोशिश की तो रिप्लाई आया की मैं शिवानी शर्मा बात कर रही हूँ, योगेश दीक्षित सर की निजी सचिव एवं अगर आपको उनसे मिलना होतो आपको अपॉइंटमेंट लेकर इंदौर सिटी ऑफिस मे मिलना होगा । 

भाजपा नेताओं व प्रशासनिक अधिकारियों के साथ फेसबुक पर फोटो व चैट कर रखी हैं अपलोड

योगेश दीक्षित नामक व्यक्ति जो कि खुद को निगम का अधिकारी बताता उनसे अपनी फेसबुक पर कई दिग्गज भाजपा नेता (मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान, सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया, सांसद शंकर लालवानी ) एवं जिलाधीश इंदौर, जिलाधीश उज्जैन, निगमायुक्त प्रतिभा पाल के साथ शुभकामनाएं संदेश व अन्य चैट अपलोड कर रखी हैं जिसके माध्यम से वह लोगों को अपनी साख बताकर गुमराह करता हैं । खबर नेशन के पास फर्जी आई पी एस ठगोरे डिप्टी कमिश्नर के वाट्स ऐप के चैट संबधी सारे स्क्रीन शॉट मौजूद हैं ।

फेसबुक पर झूठी साख का शिकार बना सामान्य परिवार 


मैंने योगेश दीक्षित की फेसबुक आई डी देखी तो मुझे लगा यह मेरी मदद कर सकते हैं । जब उस आई डी पर बात हुई तो उसके निजी सचिव शिवानी शर्मा द्वारा 2 हॉस्पिटल के नंबर दिए जो कि मेरे पास पहले से उपलब्ध थे । अब मेरी भाभी इस दुनिया में नहीं रही ।  

प्रवीण गाड़े ( मृतक के परिवार सदस्य ) 

 

जब इस मामले की पड़ताल खबर नेशन द्वारा की तब वर्तमान पी. आर. ओ. गरोठिया ने बताया मेरे संज्ञान में इस प्रकार कोई व्यक्ति निगम में नहीं हैं आप कमिश्नर महोदय के पीए से संपर्क कर लीजिए । जब इस मामले में कमिश्नर महोदय के पीए से संपर्क किया गया तो उन्होंने बताया कि इस प्रकार का कोई भी नगर निगम में वर्तमान में पदस्थ नहीं हैं ।

Share:

Next

फर्जी आई पी एस बनकर इंदौर नगर निगम का डिप्टी कमिश्नर बन बैठा ठगोरा


Related Articles


Leave a Comment