युवाओं में मौजूद है टैलेंट, लेकिन इमेज मेकिंग आज भी बड़ी समस्या

भोपाल की सोनिया दुबे दीवान के इंस्टीटयूट को मिला "इंटरनेशनल एक्सीलेंस अवार्ड"


खबर नेशन/Khabar Nation
भारत और खासकर भोपाल जैसे शहरों में  युवाओं में टैलेंट कूट-कूट कर भरा है, लेकिन खुद का सही प्रेजेंटेशन याने इमेज मेकिंग आज भी यहां की बहुत बड़ी समस्या है। हमारे संस्थान की कोशिश है कि बड़े शहरों से हटकर अब हम इन मिनी मेट्रो शहरों  पर फोकस करें ताकि यहां के टैलेंट को भी सही प्लेटफार्म मिल पाए। यह कहना है सोनिया दुबे दीवान का। भोपाल की सोनिया भारत की पहली महिला इमेज काउंसलर हैं, जिन्हें एआईसीआई ने भारत चेप्टर का प्रेसिडेंट चुना है। सोनिया की उपलब्धि यहीं तक सीमित नहीं। उनके इंस्टीटयूट "इंडियन स्कूल आॅफ इमेज मैनेजमेंट," मुंबई को अमेरिका द्वारा आयोजित अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन में भारत की ओर से "सर्वश्रेष्ठ व्यवसायिक प्रशिक्षण शिक्षा संस्थान" के अवार्ड से नवाजा गया है। यह इंडियन गवर्नमेंट और आईटीयू द्वारा को-क्रिएटेड प्रोग्राम था जिसे सीएमआई ने आयोजित किया था। 
इस हफ्ते, इंटरनेशनल टेलीकॉम यूनियन जिनेवा जो कि यूनाइटेड नेशन का एक हिस्सा है, द्वारा आयोजित लाइव प्रोग्राम में इंस्टीटयूट को यह अवार्ड दिया गया। सोनिया बताती हैं कि यह सिक्स इंटरनेशनल एजुकेशनल एक्सीलेंस अवार्ड सेरेमनी थी जो जिनेवा से ही लाइव आयोजित की गई और इसमें डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन आॅफ एजुकेशन के ऊपर चर्चा हुई। उन्हें यह अवार्ड इस लाइव कांफ्रेंस में डॉ. मालकोन जोन्सन डिप्यूटी सेकेटरी आईटीयूके जिनेवा और डॉ. अनिल सहत्रबुद्धे चेयरमेन एआईसीटीई मिनिस्ट्री आॅफ एचआरडी, भारत द्वारा प्रेजेंट किया गया। 
पहले से डिजिटली कर रहे अच्छा काम।
सोनिया ने कहा कि इंडियन एजुकेशन में टेक्निकल ट्रेनिंग बहुत अच्छी है, लेकिन इसके बाद मुख्य यह होता है कि अपने आप को कैसे प्रेजेंट करना है और अच्छी से अच्छी इमेज बनानी है। इसमें हम कभी-कभी थोड़ा मात खा जाते हैं। इस पर हम बेहतर प्रदर्शन के लिए काम कर रहे हैं और इसके लिए शोर्ट टर्म और लांग टर्म प्रोग्राम उपलब्ध कर रहे हैं। इंडिया में हमारा एकमात्र एक्रेडिटेड इंस्टीटयूट है जो कि इंटरनेशनल लेवल पर यह सारी एजुकेशन प्रोवाइड करता है। सबसे खास बात यह कि यह सारा काम हम लॉकडाउन के पहले से डिजिटली और आॅनलाइन भी कर रहे हैं। हम लोगों को सॉफ्ट स्किल, ग्रूमिंग, प्रेजेंटेशन आदि के लिए ट्रेनिंग देते हैं।  भोपाल बरकतउल्ला यूनिवर्सिटी से बी टेक कर आगे की शिक्षा पुणे से प्राप्त, सोनिया की मां डॉ. आरएच लता सोशल एक्टिविस्ट हैं। सोनिया के इमेज मैनेजमेंट इंस्टीटयूट ब्रांच भारत में पांच शहरों में मौजूद है। इसमें मुंबई, दिल्ली, बंगलौर, कलकत्ता और गुड़गांव शामिल है। इसके अलावा मॉरीशस में भी एक ब्रांच है। 
आगे भोपाल पर फोकस
सोनिया ने बताया कि वह भोपाल के विभिन्न इंस्टीटयूट में कई सारे प्रोग्राम कर चुकी हैं। उन्होंने कहा कि आगे हमारा फोकस भोपाल और अन्य स्मॉल सिटीज और शहरों पर ही है क्योंकि बड़ी सिटीज मे सभी के पास एक्सपोजर होता है। इसके विपरीत छोटे शहरों में टैलेंट बहुत है, लेकिन इंटरव्यू में खुद को प्रेजेंट करते वक्त या आगे प्रमोशन में अपनी इमेज मेकिंग में हम थोड़ा मात खाते हैं, इसपर हमें काम करना है।

Share:

Next

युवाओं में मौजूद है टैलेंट, लेकिन इमेज मेकिंग आज भी बड़ी समस्या


Related Articles


Leave a Comment