एक बार फिर मोदी सरकार के आम बजट से निराशा का माहौल

एक विचार Feb 02, 2020

 

खबर नेशन / Khabar Nation

देश को मंदी से उबारने के लिए कोई ठोस प्रयास नहीं किया, युवाओं को एक बार फिर पकोड़े बनाने को प्रेरित करेंगे नरेन्द्र मोदी।

 

  भोपाल।   मध्यप्रदेश के लोक निर्माण एवं पर्यावरण मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने आज पेश किए गए केन्द्रीय बजट के बारे में अपनी तीखी प्रतिक्रिया दी, उन्होंने कहा की यह बजट निराशाजनक है। भयंकर आर्थिक संकट के दौर में भी सरकार ने आर्थिक स्थिति को पटरी पर लाने का बजट में कोई प्रयास नहीं किया। देश के युवाओं को एक बार फिर बजट में कुछ नहीं मिला। बेरोजगारी निरंतर बढ़ रही है लेकिन सरकार ने इस संकट से उबरने के लिए कोई विशेष प्रावधान आज के बजट में नहीं किया इससे यह प्रतीत होता है की मोदी जी एक बार फिर से युवाओं को पकौड़े तलने का ज्ञान देंगे।

एयर इंडिया के बाद देश की सबसे बढ़ी सरकारी बीमा कंपनी “एलआईसी” को भी मोदी सरकार बेचने जा रही है, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमन जीवन बीमा के क्षेत्र की प्राइवेट कंपनियों को फायदा पहुँचाना चाहती है। पिछले बजट के कई लक्ष्य सरकार अभी तक हासिल नहीं कर पाई है और इस बजट में कई फैसले किसानों की जरुरत के विपरीत लिए गए जैसे खाद सब्सिडी में 10.9% की कमी की गई है, ग्रामीण विकास के बजट में मात्र 0.99% की वृद्धि की गई है जिसे अगर महंगाई दर से देखा जाए तो कमी ही कहलाएगी |

 

 

5 नई स्मार्ट सिटी बनाने की घोषणा इस बजट में की गई है, में मोदी सरकार से यह पूछना चाहता हूँ की पहले से बन रही 100 स्मार्ट सिटी का क्या हाल है, कितनी पूरी हुई और कैसे विकास हुआ। सिर्फ लोक लुभावन घोषणाएं करना मोदी सरकार का काम है। कर्ज से आत्महत्या कर रहे किसानों को कभी राहत नहीं दी और अब उनकी आय दुगुनी करने वाली है मोदी सरकार, कैसे? कैसे आय को दोगुना करेंगे इसका कोई रोडमैप इस बजट में मुझे नहीं दिखता।

Share:


Related Articles


Leave a Comment