जवाबदेह और जिम्मेदार शासन हमारा लक्ष्य: कमलनाथ

राजनीति Jun 19, 2019

खबर नेशन/Khabar Nation  

भोपाल, 17 दिसंबर 2018 को मैंने मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली थी और आज 17 जून 2019 को मेरे कार्यकाल के 6 माह पूर्ण हो गए हैं।
मैं शुरू से ही इस बात का पक्षधर रहा हूं कि हर सरकार को समय-समय पर अपना रिपोर्ट कार्ड जनता के बीच में रखना चाहिए ताकि जनता कामों के आधार पर सरकार के कामकाज का आकलन कर सके।मैंने अपनी सरकार के 100 दिन पूरे होने पर भी रिपोर्ट कार्ड पेश किया था और आज 6 माह पूर्ण होने पर भी हमने हमारी सरकार का रिपोर्ट कार्ड प्रदेश के विभिन्न जिलों में,जनता के बीच में रखा। 

सरकार बनने के पूर्व हमने जारी हमारे घोषणा पत्र को वचन पत्र नाम दिया ताकि हम इसे एक वचन के रूप में पूरा कर सकें।मध्यप्रदेश सरकार अपने गठन के पहले दिन से ही पूरी प्रतिबद्धता के साथ प्रदेश की समग्र उन्नति और प्रगति के लिए प्रयासरत हैं। बदलाव के इस पड़ाव में राज्य की खुशहाली, समृद्धि और प्रगति हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है। राज्य के सामाजिक ,आर्थिक और भौतिक ढांचे को मजबूत बनाना हमारी सरकार का लक्ष्य है। इन छह माह में करीब ढाई माह लोकसभा चुनाव की आचार संहिता में चले गए। काम करने का समय कब मिला, प्रदेश का खजाना भी खाली था लेकिन हमने फिर भी इतने अल्प समय में, अपनी प्रतिबद्धता से, हमारे वचन पत्र के करीब 100 बिंदुओं को पूरा कर एक इतिहास रचा है।

मैंने मुख्यमंत्री पद की शपथ ग्रहण करते ही उसी दिन किसानों की कर्ज माफी के आदेश पर हस्ताक्षर कर अपने महत्वपूर्ण वादे को निभाने का कार्य किया है। आज कर्ज माफी की प्रक्रिया सतत जारी है।करीब 20 लाख किसान इसका लाभ ले चुके हैं। किसानो को कर्ज से उबारना व उन्हें उनकी उपज का वाजिब दाम दिलाना हमारा प्रमुख लक्ष्य है और इसे हम हर हाल में पूरा करेंगे।

प्रदेश में युवाओं की बेरोजगारी एक बड़ी समस्या थी।प्रदेश के युवा बेरोजगारी के कारण मौत को गले लगा रहे थे।मैंने पूर्व में ही कहा था कि हमारी सरकार बनते ही युवाओं के रोजगार को लेकर हम कोई ठोस कार्ययोजना बनाएंगे। सरकार के गठन के साथ ही हमने प्रदेश में युवा स्वाभिमान योजना लागू करी।जिसमें युवाओं को 100 दिन के रोजगार की गारंटी ,हर महीने 4 हजार रुपए का स्टाइपेंड और कौशल विकास का प्रशिक्षण देना प्रारंभ किया। हमने उद्योग नीति में भी संशोधन कर मध्यप्रदेश में लगने वाले उद्योगों में स्थानीय युवाओं को 70 प्रतिशत रोजगार देना अनिवार्य किया। प्रदेश में निवेश व रोजगार हमारी प्रमुख प्राथमिकताओं में है,इसको लेकर हम निरंतर काम कर रहे हैं।

शिक्षा व स्वास्थ्य के क्षेत्र में हम प्रदेश को शीर्ष राज्यों में ले जाना चाहते हैं। सभी के लिए शिक्षा सुगम और सुलभ हो इसके लिए हमारे ठोस प्रयास निरंतर जारी हैं।

स्वास्थ्य के क्षेत्र में भी हमारा लगातार प्रयास है कि प्रदेश के हर व्यक्ति को बेहतर से बेहतर स्वास्थ सुविधाए उपलब्ध हो।पैसे के अभाव में कोई भी गरीब-वंचित व्यक्ति स्वास्थ सुविधाओं से वंचित ना हो पाये।इसको लेकर हमने कई महत्वपूर्ण निर्णय लिये है।

पंचायती राज को मजबूत व सशक्त बनाने के लिए हमारी सरकार ने इन छह माह में कई प्रमुख निर्णय लिए हैं। समाज के सभी वर्गों के हितों की रक्षा हो, सामाजिक समरसता बनी रहे ,सभी को समान अवसर मिले, प्रदेश की उन्नति हो ,इसको लेकर भी हमने आशावादी और सकारात्मक सोच के साथ कई निर्णय इन छह माह में लिए हैं।

चाहे पिछड़ा वर्ग के आरक्षण को 14 प्रतिशत से बढ़ाकर 27 प्रतिशत करने की बात हो या कमजोर वर्ग के हितों की रक्षा की बात हो, हमने इन 6 माह में कई निर्णय अपनी प्रतिबद्धता को दोहराया है। विद्युत क्षेत्र में विद्युत प्रदाय बढ़ाने से लेकर, मांग की शत प्रतिशत पूर्ति व अधोसंरचना सुदृढ़ बनाने को लेकर हमने कई उल्लेखनीय इस दौरान कार्य किये है। इंदिरा गृह ज्योति योजना के तहत ₹100 में 100 यूनिट बिजली की बात हो या बिजली बिल हाफ की बात हो ,हमने अपने वचन पत्र के वादे को पूरा किया है।

हमारा प्रदेश पर्यटन की असीम संभावनाओं से भरा हुआ है।इससे बढ़ाने के लिए भी हमने कई निर्णय इन छह माह में लिए हैं।

आदिवासी वर्ग के सर्वांगीण विकास तथा उन्हें हक दिलाने के लिए भी सरकार ने कई निर्णय व प्रयास इन छह माह में किए हैं। आदिवासी वर्ग के उत्थान व हितों की रक्षा के लिए अपने वचन पत्र में किए गए कई वादों को हमने पूरा किया है।

सभी को स्वच्छ जल सुलभता से उपलब्ध हो।इसको लेकर हमने कई निर्णय लिये है व इसको लेकर कई ठोस कार्ययोजनाओं पर कार्य जारी है। गुणवत्ता वाली सड़कें, पुल किसी भी राज्य की प्रगति की पहचान होते हैं। उसको लेकर भी इन 6 माह में हमने उल्लेखनीय कार्य किए हैं। सहकार ही संकल्प हो तो समाज और राष्ट्र प्रगति करता है।सहकर से ही सामाजिक ढांचा निर्मित होता है। इसी भाव को दृष्टिगत रखते हुए कई सकारात्मक कार्य हमने इन 6 माह में सहकारी क्षेत्र में भी किये है। हमने कर्मचारी वर्ग के हित में कई वादे अपने वचन पत्र में किए थे। जिसे हम एक-एक कर पूरा करते जा रहे हैं। चाहे उनकी महंगाई भत्ते की मांग हो या सातवें वेतनमान के एरियर के भुगतान की बात हो अन्य वाजिब माँगे ,सभी को लेकर हम निरंतर निर्णय लेते जा रहे हैं।
प्रदेश में कानून व्यवस्था को सुधारने व दुरुस्त बनाने के लिए हमने कई महत्वपूर्ण निर्णय इन छह माह में लिए हैं। जिससे अल्पअवधि में ही कई सकारात्मक परिणाम सामने आए हैं। अपराधों में कमी हमारा मुख्य लक्ष्य है और हम प्रदेश को दोबारा शांति का टापू बनाना चाहते हैं। प्रदेश में गोवंश के संरक्षण और संवर्धन के लिए हमने अपने वचन पत्र में वादा किया था। उसी वादे के अनुरूप हमने 1000 गौशाला स्थापित करने का निर्णय लिया है। जिस पर कार्य जारी है। हमने इन छह माह में प्रदेश हित में ओर भी कई महत्वपूर्ण निर्णय लिये है। 

मैं प्रदेश वासियों को विश्वास दिलाता हूँ कि हम अपने वचन पत्र के एक-एक वादे को हर हाल में पूरा करेंगे। हम प्रदेश को विकास की दृष्टि से देश में शीर्ष पर ले जायेंगे। प्रदेश का हर वर्ग खुश हो, यह हमारा संकल्प है। प्रदेश की जनता के सहयोग से हम प्रदेश की विकास की एक नई तस्वीर लिखेंगे। पूरे पाँच वर्ष हमारी सरकार जनहित के संकल्प के साथ काम करती रहेगी। यह विश्वास में प्रदेशवासियों को दिलाता हूँ।

Share:


Related Articles


Leave a Comment