राहुल गांधी ने कर्नाटक, मध्यप्रदेश के किसानो से कर्जमाफ़ी का झूठ बोलाः शिवराज सिंह चौहान

राजनीति Mar 11, 2019

दिग्विजय और हरिप्रसाद के देश विरोधी बयानों के पीछे राहुल गांधी

खबरनेशन/Khabarnation  

कर्नाटक। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आज एक दिवसीय कर्नाटक दौरे पर रहे। आपने यहाँ भारत के मन की बात मोदी के साथ कार्यक्रम में किसान भाइयों, बहनो से चर्चा कर उनसे बेहतर कृषि हेतु  सुझाव मांगे। शिवराज सिंह चौहान ने तुमकुर में आयोजित पत्रकार वार्ता में कर्नाटक और देश के वर्तमान परिदृश्य पर अपनी बात रखी। आप एक दिवसीय कर्नाटक प्रवास के दौरान सिद्धगंगा मठ पहुंचे और शिवकुमार स्वामी जी की समाधि स्थल पर पुष्प अर्पित किए। शिवराजसिंह चौहान बेंगलुरु स्थित स्वर्गीय अनंत कुमार जी के निवास पहुँचकर उन्हे श्रद्धासुमन अर्पित किए और परिवारजन से चर्चा की।

पत्रकार वार्ता को संबोधित करते हुए शिवराज सिंह चौहान ने दिग्विजय सिंह और बी के हरिप्रसाद के देश विरोधी बयानो पर कड़ी आपत्ति दर्ज की और कहा कि दिग्विजय सिंह और बी के हरिप्रसाद के बयानो के पीछे कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष है। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी एक तरफ तो पुलवामा हमले में शहीद परिवारजनो के साथ खड़े होने की बात तो करते है लेकिन दूसरी तरफ देश की वायुसेना के शौर्य और साहस के सबूत के लिए दिग्विजय सिंह, बीके हरीप्रसाद जैसे नेताओं को आगे कर देते है। इन दोनों कांग्रेसी नेताओं को राहुल गांधी का मौन समर्थन प्राप्त है। राहुल गांधी को स्पष्ट करना चाहिए कि क्या वे दोनों कांग्रेसी नेताओं के साथ खड़े है ? अगर ऐसा नहीं है तो राहुल गांधी तुरंत प्रभाव से दिग्विजय सिंह और बी के हरिप्रसाद को कांग्रेस से निष्काषित कर बाहर का रास्ता दिखाएँ।

शिवराज सिंह चौहान ने तुमकुर शहर में भारत के मन की बात मोदी के साथ कार्यक्रम में किसान भाइयों, बहनो से चर्चा कर उनसे बेहतर कृषि हेतु सुझाव मांगे। इस दौरान उन्होंने मध्यप्रदेश में कृषि क्षेत्र में हुए विकास का उल्लेख किया। चौहान ने कांग्रेस के धोखे की राजनीति पर किसानो को संबोधित करते हुए कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी दुनिया के सबसे बढ़े झूठे इंसान है। उन्होंने मध्यप्रदेश के किसानो से 10 दिन में तो कर्नाटक के किसानो से 7 दिन में कर्जा माफ करने की बात कही थी लेकिन आज मध्यप्रदेश के 77 दिन की सरकार में किसानो का कर्जा माफ नहीं हो पाया है तो वहीं कर्नाटक में किसानो को कर्जमाफ़ी के नाम पर एफआईआर और जेल की सजा मिल रही है। कांग्रेस ने मध्यप्रदेश और कर्नाटक दोनों राज्यो के किसानो के साथ धोखा किया है। उन्होंने दोनों राज्य के किसानो से आगामी आम चुनावो में कांग्रेस की झूठी बातों में न आते हुए देश में एक बार फिर से नरेंद्र मोदी जी को प्रधानमंत्री बनाने के संकल्प लेने का आव्हान किया।

 

Share:


Related Articles


Leave a Comment