ग्राम पंचायत के ई-पंचायत में संवर्धित होने से

राजनीति Feb 12, 2018

गांवों की शहरों पर निर्भरता समाप्त होगी: लूणावत
 

भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष विजेश लूणावत ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मेादी के डिजिटल इंडिया मिशन से ग्रामीण भारत की तस्वीर और तकदीर बदल रही है। मध्यप्रदेश की 22771 ग्राम पंचायतों को डिजिटल बनाने का अभियान चलाया जा रहा है। इसमें से 11501 ग्राम पंचायतों को कामन सर्विस सेंटर के रूप में सज्जित करने की योजना आरंभ कर दी गई है। ये ग्राम पंचायतें अगले वर्ष तक डिजिटल हो जायेगी और इनमें राज्य सरकार और केंद्र सरकार को जुड़ी सेवाएं उपलब्ध कर दी जायेंगी, जिससे ग्रामीण जनता को जिला, तहसील मुख्यालय भटकने से मुक्ति मिलेगी।
 

उन्होंने ने बताया कि इन ग्राम पंचायतों के डिजिटल होने से ये कामन सर्विस सेंटरों के रूप में सेवाएं देगी। फलस्वरूप जाति प्रमाण पत्र, आय प्रमाण पत्र, जन्म मृत्यु पंजीयन, भूमि अभिलेख स्वास्थ्य टेली परामर्श जन औषधि, वाईफाई सेवाएं केंद्र सरकार से अपेक्षित पासपोर्ट, पेन कार्ड, फसल बीमा, मृदा, स्वास्थ्य कार्ड, वोटर कार्ड, आधार कार्ड जैसी सेवाएं भी सुलभ होगी।
 

लूणावत ने कहा कि इसके साथ ही बैंकों में जमा, निकासी, बीमा प्राीमियम संग्रह, पाॅलिसी, कनेक्टिविटी के लिए आरक्षण, बिजली बिल भुगतान, जल बिल भुगतान जैसे काम ग्राम पंचायत के काउन्टर पर भी निपटने लगेंगे। इससे डिजीटल साक्षरता मिशन अपने आप शीर्ष पर पहुंचेगा।

(खबरनेशन / Khabarnation)


 

Share:


Related Articles


Leave a Comment