संसदीय लोकतंत्र की हत्या करने वाली कांग्रेस के विरूद्ध प्रदेशव्यापी उपवास

राजनीति Apr 13, 2018

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष खण्डवा में उपवास पर बैठे

संसदीय क्षेत्र के जिला मुख्यालयों पर सांसदों ने किया लोकतंत्र बचाओ उपवास

भोपाल। लोकतंत्र विरोधी कांग्रेस द्वारा संसद में गतिरोध उत्पन्न कर देश की विकास यात्रा को बाधित करने के विरोध में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी के सांसदों ने देश भर में लोकतंत्र बचाओ उपवास एवं धरना देकर जनता के समक्ष कांग्रेस के लोकतंत्र विरोधी स्वरूप का पर्दाफाश किया। प्रदेश के सभी सांसद अपने-अपने लोकसभा क्षेत्र के मुख्यालय पर कार्यकर्ताओं के साथ अनशन पर बैठे।

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद नंदकुमारसिंह चौहान ने खण्डवा में लोकतंत्र बचाओ उपवास एवं धरना प्रदर्शन को संबोधित करते हुए कहा कि कांग्रेस हमेशा से लोकतंत्र की विरोधी रही। 1975 में आपातकाल लगाकर कांग्रेस ने लोकतंत्र की हत्या की और आज फिर संसद की कार्यवाही बाधित कर जनता की आवाज दबाने की कोशिश विपक्ष द्वारा की जा रही हैं। भारतीय जनता पार्टी लोकतंत्र में विश्वास रखती हैं। राजनीति में लोकतंत्र को बनाए रखना हर जनप्रतिनिधि का दायित्व हैं। संसद के इतिहास में विपक्ष (कांग्रेस) की जो भूमिका हैं वह हैंरान करने वाली हैं। कांग्रेस के इस कृत्य को जनता के समक्ष रखने के लिए आज देश भर में भारतीय जनता पार्टी के सांसद पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ लोकतंत्र बचाओ उपवास एवं धरना दें रहें हैं। ताकि कांग्रेस की हकीकत को जनता जान सके। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में देश विकास की ओर लगातार आगे बढ़ रहा हैं और यही विपक्ष की पीड़ा का कारण हैं। हमारी विपक्ष से वैचारिक एवं सैद्धांतिक लडाई हैं लेकिन जिस तरह से कांग्रेस ने बर्ताव किया हैं उसके लिए देश की जनता कांग्रेस को कभी माफ नहीं करेगी। कार्यक्रम को विधायक देवेन्द्र वर्मा, लोकेन्द्र सिंह तोमर, योगिता नवल बोरकर, जिला अध्यक्ष हरीश कोटवाले सहित पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने भी संबोधित किया।

भोपाल में बोर्ड आफिस चौराहे पर उपवास पर बैठे सांसद आलोक संजर ने कहा कि कांग्रेस को देश भर की जनता ने नकार दिया हैं इसके बावजूद वह इसे स्वीकार करने की नैतिकता नहीं दिखा पा रही हैं और कुंठाओं के वशीभूत देश के संसदीय लोकतंत्र को भी कलंकित करने को उतारू हैं। देश के नागरिक आज बेहद जागरूक हैं, यही कारण हैं कि कांग्रेस की सरकारों के दौरान हमारी सकारात्मक विपक्ष की भूमिका को देखते हुए जनता ने हमें व्यापक जनसमर्थन दिया और आज हम देश में, सर्वाधिक प्रदेशों में सत्ता में हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस और उसके अवसरवादी विरोधी दल हमारी सरकारों की निरंतर उपलब्धियों से घबराएं हुए हैं और उन्हें लग रहा हैं कि हमारी सरकारों के रहते उनकी विशाक्त नीतियां अब इस देश में चलने वाली नहीं हैं। हमें विश्वास हैं कि देश की जागरूक जनता कांग्रेस के कृत्यों से उपज रहें हालातों का विश्लेषण करेगी और एक सशक्त समृद्ध और समरस भारत के निर्माण में राष्ट्रवादी ताकतों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ी होगी। इस अवसर पर प्रदेश उपाध्यक्ष व विधायक रामेश्वर शर्मा, जिला अध्यक्ष व विधायक सुरेन्द्रनाथ सिंह, प्रदेश मीडिया प्रभारी लोकेन्द्र पाराशर, प्रदेश प्रवक्ता राहुल कोठारी, महापौर आलोक शर्मा, भगवानदास सबनानी, ओम यादव, विधायक सुदेश राय, सीमा सिंह, सुरजीत सिंह चौहान, विकास विरानी, सतीश विश्वकर्मा, अशोक सैनी, लिलि अग्रवाल, चेतन सिंह, नीतिन दुबे, राम बंसल, राहुल राजपूत, मनमोहन नागर, विष्णु खत्री सहित बडी संख्या में कार्यकर्ता मौजूद थे।

इंदौर में उपवास एवं धरने को संबोधित करते हुए केन्द्रीय मंत्री थावरचन्द गेहलोत ने कहा कि कांग्रेस ने लगातार संसद की कार्यवाही को बाधित किया। किसी भी मुद्दों पर चर्चा नही की। कांग्रेस ने जनप्रतिनिधियों के समय का नुकसान तो किया ही साथ ही देश का आर्थिक नुकसान कर कांग्रेस ने लोकतंत्र को शर्मसार किया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस हमेशा से संसदीय कार्यवाही को बाधित कर चर्चा से भागने की कोशिश करती हैं लेकिन देश की जनता कांग्रेस के इस कृत्य को समझ चुकी हैं। जिसके परिणाम आने वाले चुनाव में कांग्रेस को हार के रूप में पुनः देखने को मिलेंगे। केन्द्रीय मंत्री रामदास आठवले ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केन्द्र सरकार लगातार दलितों के हित में काम कर रही हैं। दलितों के लिए योजनाओं का क्रियान्वयन हो रहा हैं। फिर भी विपक्ष झूठे आरोप प्रत्यारोप कर संसदीय कार्यवाही को बाधित करने में लगा हुआ हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस का लोकतंत्र में विश्वास नहीं हैं। जिन मुद्दों पर कांग्रेस आरोप लगाती हैं उन आरोपों पर सदन में चर्चा से दूर भागने का काम भी कांग्रेस करती हैं। उपवास कार्यक्रम को जिला अध्यक्ष कैलाश शर्मा, विधायक सुदर्शन गुप्ता, रमेश मेंदोला, महेन्द्र हार्डिया, सुउषा ठाकुर, प्रदेश प्रवक्ता उमेश शर्मा सहित पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने भी संबोधित किया। इस अवसर पर गोविन्द मालू, अजय सिंह नरूका, नानूराम कुमावत, गणेश गोयल, जगदीश करोसिया, सूरज कैरो, प्रताप करोसिया, हरीश जावानी, बबलू शर्मा,  वीणा शर्मा,  सविता अखण्ड,  सविता पटेल, गायत्री देवडे, पदमा भोजे, मुकेश अग्रवाल सहित नगर पदाधिकारी, मंडल अध्यक्ष, मोर्चा प्रकोष्ठ अध्यक्ष उपस्थित थे। 

राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व सांसद प्रभात झा ने गुना में कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि लोकतंत्र में सभी को अपनी बात रखने का अधिकार हैं लेकिन कांग्रेस अधिकारों का हनन करना जानती हैं। इस देश की संसद की कार्यवाही को बाधित कर कांग्रेस ने जनता के साथ अन्याय किया हैं। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव रखने वाली कांग्रेस उस प्रस्ताव पर बोलने की ताकत भी नहीं जुटा पाती। सार्थक बहस करने में भी कांग्रेस पीछे हट चुकी हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने लोकतंत्र की मर्यादाओं को तोड़कर सत्र के दौरान लगातार अभद्र व्यवहार किया। जिसे देश की जनता समय आने पर माकूल जवाब देगी। देश हित के बजाए कांग्रेस संसद की कार्यवाही को बाधित कर जनता का अहित करने में लगी हैं। अनशन को विधायक ममता मीणा, पन्नालाल शाक्य, राधेश्याम पारिख, राजेन्द्र सलूजा ने भी संबोधित किया। इस अवसर पर जिला पदाधिकारी एवं कार्यवाही बड़ी संख्या में मौजूद थे।

विदिशा में संसदीय मुख्यालय पर केंद्रीय मंत्री एम.जे. अकबर ने कहा कि सरकार जिस तेजी, संवदेनशीलता और सरोकारों के साथ आम जन के कल्याण के लिए योजनाएं बनाकर उनका क्रियान्वयन कर रही हैं, उससे कांग्रेस को अपनी जमीन दरकती दिख रही हैं। कांग्रेस अपने घटते जनाधार से चिंतित होकर संसद की कार्यवाही बाधित करने में जुटी हुई हैं लेकिन देश की जनता कांग्रेस के इस कृत्य का करारा जवाब देगी। इस अवसर पर जिला अध्यक्ष दिनेश सोनी, महामंत्री उपेन्द्र धाकड़, मुकेश टण्डन सहित पार्टी के जिला पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता उपस्थित थे। बैतूल में पार्टी की राष्ट्रीय सचिव एवं सांसद ज्योति धुर्वे ने कहा कि बजट सत्र सबसे महत्वपूर्ण सत्र होता हैं जिसमें देश के विकास के लिए अनेक सार्थक चर्चाए होती हैं, लेकिन कांग्रेस ने इस प्रकार का वातावरण खड़ा किया जिससे सांसद अपने क्षेत्र के विकास के विषय भी ठीक से नहीं रख पाये। ऐसा प्रतीत होता हैं कि कांग्रेस के सांसद अपने स्वयं के क्षेत्र में भी विकास नहीं करना चाहते। कांग्रेस ने संसद में गतिरोध उत्पन्न कर लोकतंत्र को शर्मसार किया हैं। इस अवसर पर प्रदेश कोषाध्यक्ष एवं विधायक हेमंत खण्डेलवाल, जिला अध्यक्ष जितेन्द्र कपूर, विधायक महेन्द्र सिंह चौहान, चन्द्रशेखर देशमुख, चेतराम मानेकर, मंगल सिंह धुर्वे सहित पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने लोकतंत्र की विरोधी कांग्रेस की हकीकत जनता के समक्ष रखी।

रतलाम में आयोजित उपवास कार्यक्रम में सांसद डॉ. सत्यनारायण जटिया ने संबोधित करते हुए कहा कि देश की सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस लोकतंत्र का मखौल उड़ा रही हैं। यह आश्चर्यजनक बात हैं कि कांग्रेस ने जिस तरह संसद की कार्यवाही को बाधित किया उससे विपक्ष की भूमिका पर भी प्रश्नचिन्ह उठे हैं। कांग्रेस ने संसद की कार्यवाही को बाधित कर जनता के साथ अन्याय किया हैं। इस अवसर पर जिला अध्यक्ष कान सिंह, विधायक जितेन्द्र गेहलोत, संगीता चारेल, महामंत्री प्रदीप उपाध्याय, मनोहर पोरवाल, प्रमेश मईडा, विष्णु त्रिपाठी, अशोक चैटाला, बजरंग पुरोहित सहित पार्टी पदाधिकारीगण एवं कार्यकर्ता बडी संख्या में मौजूद थे। छिंदवाड़ा में सांसद कैलाश सोनी अनशन में शामिल हुए। सीधी के कलेक्टर आफिस के पास उपवास कार्यक्रम में सांसद रीति पाठक, जिला अध्यक्ष लालचंद गुप्ता, उपेन्द्र सिंह चौहान, सुरेश सिंह चौहान सहित पार्टी के जिला पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता उपस्थित थे। मण्डला में कलेक्टर आफिस के सामने सांसद फग्गनसिंह कुलस्ते, प्रदेश मंत्री व सांसद संपत्तिया उइके, जिला अध्यक्ष रतनसिंह ठाकुर सहित पार्टी के जिला पदाधिकारी एवं कार्यकर्ताओं ने उपवास कार्यक्रम में शामिल हुए। सागर में सांसद लक्ष्मीनारायण यादव के नेतृत्व में पार्टी के विधायक शैलेन्द्र जैन, जिला अध्यक्ष प्रभुदयाल पटेल, महापौर अभय दर्रे, सुधा जैन, कृष्णवीर ठाकुर, जाहर सिंह, सुशील तिवारी, लक्ष्मण सेन सहित पार्टी पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता उपवास एवं अनशन में शामिल हुए। 

जबलपुर में सांसद राकेश सिंह ने उपवास कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि जब कांग्रेस की सरकारें थीं तब हमने सदैव सकारात्मक विपक्ष की भूमिका निभाई। तथ्य और आकड़ों के आधार पर काॅमनवेल्थ और कोयला घोटाला जैसे सैकड़ों घोटालों को उठाने का अपना राष्ट्रीय धर्म निभाया। यही कारण था कि हम एक सशक्त और विश्वसनीय राजनीतिक दल के रूप में देश में स्थापित हुए लेकिन कांग्रेस ने संसद सत्र में अवरोध उत्पन्न कर अपनी विश्वसनीयता पर ही सवाल खडे कर दिए हैं। कांग्रेस लोकतंत्र विरोधी हैं और यह चेहरा जनता के समक्ष पूरी तरह उजागर हो चुका हैं। 

बालाघाट में काली पुतली चौक पर सांसद बोधसिंह भगत, जिला अध्यक्ष रमेश रंगलानी, विधायक के.डी. देशमुख, राजगढ़ में सांसद रोडमल नागर, जिला अध्यक्ष बद्रीलाल यादव, विधायक अमरसिंह यादव, नारायण सिंह पवार, हजारी लाल दांगी, मंदसौर में गांधी प्रतिमा के समक्ष सांसद सुधीर गुप्ता, प्रदेश महामंत्री बंशीलाल गुर्जर, जिला अध्यक्ष देवीलाल धाकड़, हेमंत हरित सहित पार्टी के जिला पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता उपवास पर बैठे। धार के त्रिमुर्ती चौराहे पर सांसद सावित्री ठाकुर, विधायक नीना वर्मा, कालूसिंह ठाकुर, जिला अध्यक्ष डॉ. राज बर्फा, सतना में कलेक्टोरेट के समक्ष सांसद गणेश सिंह, प्रदेश महामंत्री विष्णुदत्त शर्मा, विधायक शंकरलाल तिवारी, जिला अध्यक्ष नरेन्द्र त्रिपाठी के नेतृत्व में उपवास एवं अनशन कार्यक्रम संपन्न हुआ। उज्जैन में सांसद चिंतामणि मालवीय, मोहन यादव, इकबाल सिंह गांधी, अनिल फिरोजिया, राजपाल सिंह सिसौदिया, रूप पमनानी, महापौर मीना जोनवाल, वीरेन्द्र कावडिया सहित जिला पदाधिकारी व कार्यकर्ता उपवास कार्यक्रम में मौजूद थे। (खबरनेशन / Khabarnation)
 

Share:


Related Articles


Leave a Comment