देश की संस्कृति से एक ही संगठन जुड़ा हुआ है वह है कांग्रेस सेवादल -कमलनाथ

राजनीति Jan 11, 2020

 

  खबर नेशन / Khabar Nation 

भोपाल । अखिल भारतीय कांग्रेस सेवादल के राष्ट्रीय विषारद प्रषिक्शण षिविर के आठवें दिन म.प्र. के मुख्यमंत्री एवं म.प्र. कांग्रेस कमेटी के अध्यक्श श्री कमलनाथ ने षिविरार्थियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि देश की सभ्यता व संस्कृति से एक ही संगठन जुड़ा हुआ है वह है कांग्रेस सेवादल । सेवादल के कार्यकर्ता आज भी गांव गांव जाकर कांग्रेस की नीतियों सिद्धांतों का बगैर किसी लालच के निस्वार्थ भाव से प्रचार करने मे लगे हुये है । उन्होनें कहा कि मैंनें स्वयं 1980 में सेवादल का प्रषिक्शण प्राप्त किया है ।

श्री कमलनाथ ने आरएसएस पर हमला करते हुए कहा कि आरएसएस ने 2004 से पहले कभी भी अपने नागपुर मुख्यालय मंे राष्ट्रीय ध्वज नहीं फहराया है । उन्होनें जोर देकर कहा कि ये राष्ट्रविरोधी तत्व जिनका इतिहास ही अंग्रेजों की गुलामी करना रहा है कांग्रेस कार्यकर्ताओं को राष्ट्रधर्म का पाठ सिखायेंगें ? आज देश के भाईचारे पर हमला हो रहा है ये देश के लिए खतरे की बात है जो बीज बोये जा रहे है इसके परिणाम आगे आने वाली पीढ़ियों के लिए बहुत ही घातक होंगेें । श्री नाथ ने कहा कि कांग्रेस सेवादल के राष्ट्रीय अध्यक्श श्री लालजी देसाई से कहा कि कांग्रेस सेवादल का आईटी सेल मध्यप्रदेश से ही संचालित किया जाए ।

प्रषिक्शण षिविर के प्रथम सत्र में पधारे म.प्र. शासन के पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री कमलेष्वर पटेल ने कहा कि हम लोग देश को अंग्रेजों से मुक्ति दिलाने वाली पार्टी के कार्यकर्ता है । कांग्रेस पार्टी के सिद्धांत बिना जाति वर्ग का भेदभाव किये लोगों को समान अवसर मुहैया कराना रहा है । उन्होनें इंदिराजी को याद करते हुए कहा कि आजादी के आंदोलन में वानर सेना बनाकर अंग्रेजों से लड़ाई लड़ी थी जिसमंें सेवादल के ही लोग थे । श्री पटेल ने कहा कि सेवादल के लोग इंदिरा जी की सुरक्षा भी किया करते थे उन्होनें जोर देते हुए कहा कि सेवादल के साथियों को गांव गांव जाकर आरएसएस के देश विरोधी कृत्यों को बताना होगा और असहाय गरीबों को कांग्रेस सरकार के द्वारा संचालित योजनाओं की जानकारी देनी होगी कि मोदी सरकार कांग्रेस सरकार द्वारा संचालित योजनाओं के केवल नाम बदलने में लगी हुई है स्वयं की कोई योजना लागू नहीं कर पा रहे है ।

बड़े ही अनुषासित ढंग से संचालित अ.भा.कांग्रेस सेवादल के राष्ट्रीय प्रषिक्शण षिविर में पधारे अ.भा.कांग्रेस कमेटी के महासचिव श्री मोहन प्रकाश ने कहा कि कांग्रेस सेवादल के सदस्य स्वतंत्रता संग्राम आंदोलन के वाहक रहे लोगों के वारिस है। सेवादल ने गांधी के आदर्षो के अनुरूप महिला षिक्षा, छुआछूत,सतिप्रथा जैसी बुराईयों को दूर करने का कार्य किया है । गांधीजी का सपना अंग्रेजों को हटाने के अलावा देश का पुर्ननिर्माण कर हिंदुस्तान में  ऐसा समाज स्थापित करना चाहते थे जिसमें जाति धर्म वर्ग सम्प्रदाय की खाईयों को समाप्त किया जा सके ।

श्री मोहन प्रकाश ने कहा कि गांधी, नेहरू, पटेल, आजाद, गोखले व तिलक की परिकल्पना को कांग्रेस ने साकार करने के लिए निरंतर कार्य किया है उन्होनें गांधीजी की चम्पारण यात्रा का उल्लेख करते हुए कहा कि गांधीजी ने देखा कि चम्पारण की महिलाओं के शरीर पर वस्त्र नहीं थे तब उन्होनें वस्त्र त्यागने का संकल्प कर लिया आज ये आरएसएस के लोग क्या गांधी जैसा त्याग करने की हिम्मत रखते है ? उन्होनें कहा कि यर्बदा जेल में जब गांधीजी सपत्निक और अपने सहयोगी महादेव देसाई के साथ निरूद्ध थे तब गांधीजी के सामने ही उनकी पत्नी और महादेव देसाई की मृत्यु जेल में ही हो गई थी फिर भी गांधीजी विचलित नहीं हुए । उन्होनें कहा कि सेवादल के साथियों को गांधीजी के जीवन से पे्ररणा लेनी पड़ेगी और गांधीजी के सिद्धांत सत्य, अहिंसा, ब्रम्हचर्य, निर्भयता, छुआछूत को न मानना, शारीरिक श्रम तथा सत्याग्रह जैसे सिद्धांतों को आत्मसात करना होगा ।

षिविर में बंेगलोर से पधारे मोदी सरकार की गलत नीतियों के विरोध में आईएएस से इस्तीफा देने वाले शषिकांत सेंथिल ने कहा कि सदियों की विशमता के बाद पीड़ित और शोषित समाज को पंडित नेहरू के मंत्रिमंडल के सहयोगी सदस्य तथा संविधान के निर्माता डाॅ. भीमराव अम्बेडकर ने संविधान के रूप में हमें एक अस्त्र दिया । जिसके कारण समाज में फैली हुई विशमता व असमानता को दूर करने मंे काफी हद तक सफलता मिली है आज दलित और वंचित वर्ग के लोग भी कांग्रेस सरकार द्वारा लागू की गई नीतियों के समाज में समान अवसर प्राप्त कर रहे है। उन्होंने कहा कि अभी भी और अधिक काम करने की जरूरत है ।

 

षिविर के द्वितीय सत्र में पधारे अ.भा.कांग्रेस सेवादल के पूर्व राष्ट्रीय उपाध्यक्श श्री रामेष्वर नीखरा ने प्रषिक्शणार्थियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि राजीव गांधी जी चाहते थे कि चाहे एनएसयूआई हो, युवा कांग्रेस हो, सांसद या विधायक हो सबको वैचारिक रूप से कांग्रेस सेवादल की टेªनिंग लेनी चाहिए । श्री नीखरा ने सेवादल के ऐतिहासिक महत्व को उल्लेखित करते हुए कहा कि पटना के नमक सत्याग्रह में 2000 सेवादल के साथियों पर  20-25 सिपाही डंडे चलाते थे घायल साथियों को सेवादल के साथी अलग कर उनकी मरहम पट्टी करते और स्वयं डंडे खाने के लिए आगे बढ़ जाते थे इस क्रम में 6 सिपाही भी बेहोश हो गये उनकी सेवा भी सेवादल के साथियों ने की थी ऐसे ही समर्पण भाव की जरूरत आज के समय में फिर आ पड़ी है ।

मध्यप्रदेश विधानसभा की उपाध्यक्श श्रीमती हिना कांवरे ने द्वितीय सत्र को सम्बोधित करते हुए कहा कि लोकतंत्र के मंदिर में आपराधिक प्रवृत्ति के लोग न पंहुच सके इसलिए राहुल जी ने अपनी ही सरकार के अध्यादेश को फाड़ दिया था । राहुल जी का मानना था कि जब सत्ता में आपराधिक प्रवृत्ति के लोग हावी होंगे तो देश और समाज कैसे सुरक्षित रहेगा ? उन्होनें जोर देते हुए कहा कि आज आरएसएस के लोग झूठ को प्रचारित करने में लगे हुए है कि कष्मीर से धारा 370 हटाने के बाद कष्मीर हमारा अभिन्न अंग है, जबकि कष्मीर तो शुरू से ही भारत का अभिन्न अंग रहा है । उन्होनें मोदी सरकार के द्वारा भूमि अ्रधिग्रहण कानून को पंूजीपतियों के हक में रद्द करने का जो कुटिल प्रयास किया था राहुल गांधीजी ने किसानों के साथ किये जा रहे छल का जबरदस्त विरोध कर किसानों के हितों की रक्षा की थी ।

प्र्रषिक्शण षिविर में पधारे म.प्र.शासन के वाणिज्यिक कर मंत्री श्री ब्रजेन्द्रसिंह राठौर ने मोदी और अमित शाह पर कटाक्श करते हुए कहा कि कुछ लोग आजकल मजेदार व लच्छेदार भाशण करते है लेकिन देश के लोगों के हितों के लिए कोई कार्य नहीं करते सिर्फ अपने कुछ चुनिंदा मित्रों का भला करने के लिए जी जान से लगे हुए   है । उन्होनें कहा कि जिनका आजादी के आंदोलन में कोई योगदान नहीं है वह हम कांग्रेसियों को राष्ट्रवाद का पाढ़ पढ़ाने में लगे हुए है ।

अ.भा.कांग्रेस सेवादल के राष्ट्रीय प्रषिक्शण के आठवें दिन प्रातः ध्वजारोहण म.प्र.कांग्रेस सेवादल के प्रदेश अध्यक्श डाॅ. सत्येन्द्र यादव ने किया ।

षिविर में पधारे सभी सम्मानीय अतिथियों को षिविराधिपति श्री योगेश यादव एवं म.प्र. कांग्रेस सेवादल के  प्रदेश अध्यक्श डाॅ. सत्येन्द्र यादव ने शाल श्रीफल व प्रतीक चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया । इस अवसर पर अ.भा.कांग्रेस सेवादल के राष्ट्रीय अध्यक्श श्री लालजी देसाई जी ने सभी सम्मानीय अतिथियांे का आभार व्यक्त किया । 

Share:


Related Articles


Leave a Comment