इंदौर की राजनीति के तीन शेर फिर जीतेंगे

 

महेश काका , रामेश्वर बाबूजी और विष्णु प्रसाद शुक्ला ' बड़े भैय्या की जंग

खबर नेशन  / Khabar Nation

मध्यप्रदेश की व्यवसायिक राजधानी इंदौर मिनी मुंबई के तीन राजनैतिक शेर जीवन की जंग लड़ रहे हैं ।  पूर्व मंत्री महेश जोशी काका , पूर्व मंत्री रामेश्वर पटेल बाबूजी और कान्यकुब्ज ब्राह्मण समाज के दिग्गज विष्णु प्रसाद शुक्ला ' बड़े भैय्या इन दिनों बीमार है और अस्पताल में स्वास्थ्य लाभ ले रहे हैं । तारीफ की बात यह है कि तीनों दिग्गजों के परिवारजन और नजदीकी दिल से तन मन धन के साथ सेवा में जुटे हुए हैं ।
काका मतलब महेश जोशी जी के जन्मदिन के बहाने तीनों के राजनैतिक और सामाजिक सफरनामे पर एक नजर शीघ्र स्वस्थ होने की कामना के साथ

महेश जोशी राजस्थान के कुशलगढ़ से मध्यप्रदेश के इंदौर में अपनी मजबूत राजनीतिक जमीन जमाने वाले काका अपनी साफगोई और स्पष्टवादिता के साथ संगठन के कुशल शिल्पी के तौर पर जाने जाते हैं । कांग्रेस की राजनीति में इंदौर से लेकर दिल्ली तक महेश जोशी के जीवंत संपर्क रहे हैं । विरोधी दलों में भी उन्हें अलग महत्व दिया जाता है । अपनी सांगठनिक और राजनैतिक कुशलता के चलते मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह उन्हें अपना राजनीतिक गुरु सार्वजनिक रूप से स्वीकारते रहे हैं । सार्वजनिक स्थलों पर महेश जोशी दिग्विजय सिंह पर नाराज हो जाते थे और दिग्विजय मुख्यमंत्री होते हुए भी उनकी नाराजगी को हंसकर टाल देते थे । महेश काका की एक खासियत और है कि वे जब खाने की टेबल पर होते हैं तो सामने अगर राजनैतिक दुश्मन भी दिख जाए तो उसे खाना खाए बिना नहीं जाने देते । बरसों से यह रिवाज बिना नागा निभाने वाले चुनिंदा राजनेताओं में एक राजनैतिक शख्स महेश जोशी भी हैं । हर दिन कम से कम आठ दस लोगों को मैंने स्वयं उनके साथ खाना खाते देखा है । इस दौरान कोई उच्च निम्न का भेदभाव नहीं किया जाता है ।

रामेश्वर पटेल बाबूजी सहकारिता की राजनीति से अपनी राजनीतिक जमीन मजबूत करने वाले रामेश्वर पटेल बाबूजी इंदौर जिले की ग्रामीण राजनीति का सबसे बड़ा चेहरा हैं । लगभग चार माह से इंदौर के डी एन एस हास्पिटल में एडमिट हैं । स्कूल , कॉलेज और खेती-बाड़ी में संपन्न पटेल साहब मिलनसार और सहयोग की राजनेता के तौर पर जाने जाते हैं । हाल ही में जब मध्यप्रदेश में सत्ता परिवर्तन के दौर में जब ग्वालियर रियासत के महाराज और कांग्रेस के कद्दावर नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भाजपा का दामन थामा तो सिंधिया के कट्टर समर्थक सत्यनारायण पटेल पर नजरें टिक गई । उस दौर में भी रामेश्वर पटेल ने सत्यनारायण पटेल को कांग्रेस में रहने की ही पुरजोर सलाह दी ।  विगत चार माह से पूरा पटेल परिवार सेवा में जुटा हुआ है ।
विष्णु प्रसाद शुक्ला बड़े भैय्या ब्राह्मण समाज के बड़े चेहरे के रुप में स्थापित विष्णु प्रसाद शुक्ला बड़े भैय्या ने इंदौर शहर में भारतीय जनता पार्टी को खड़ा करने में अथक परिश्रम के साथ साथ धन से भरपूर मदद की। स्वर्गीय प्यारेलाल खंडेलवाल के निकटतम समर्थकों में शुमार श्री शुक्ला का पूरा परिवार राजनीति से जुड़ा रहा लेकिन उन्होंने अपनी इच्छा परिवार के सदस्यों पर थोपी नहीं । जिसका परिणाम है कि उनके सुपुत्र संजय शुक्ला कांग्रेस से विधायक हैं और मध्यप्रदेश में जनसेवा के माध्यम से अग्रणी विधायकों के तौर पर शामिल किए जाते हैं ।

इसे भी पढ़िए

शिवराज के खास IAS अफसर को गिफ्ट में मिला पेट्रोल पंप
 ऑफ द रिकॉर्ड  Apr 01, 2021
खबर नेशन / Khabar Nation

मंत्री की पत्नी की मेंटेनेंस शुल्क के नाम पर दादागिरी

मुख्यमंत्री की अनुशंसा के बिना तबादला कर दिया*

स्टार प्रचारकों की सूची में प्रोटोकॉल की हेर-फेर

पुनर्वास में पीछे शिवराज

See Read More:


http://khabarnation.com/Off%20the%20record/Ias-Gift-Petrol-Pump

 

 

Share:

Next

इंदौर की राजनीति के तीन शेर फिर जीतेंगे


Related Articles


Leave a Comment