मोदी और शाह आज भी डरते हैं शिवराज से

 

खबर नेशन / Khabar Nation

पद से हटने के बाद कई दिग्गज नेताओं के वजूद को बिखरते देखा है । और जब एक ऐसा नेता जिसके स्वयं के ऊपर हार जीत की जिम्मेदारी हो तो फिर उस दबाव की तो कल्पना ही बेमानी है । 
मध्यप्रदेश की हालिया राजनीति में इक जननेता और राजनेता के तौर पर पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान अपने वजूद को लेकर लगातार संघर्ष करते हुए नजर आ रहे हैं।
जननेता के तौर पर इसलिए कि शिवराज भीड़ देखते हीं अपने जादू को बिखरने का काम शुरू कर देते हैं । फिर भीड़ चाहे स्वस्फूर्त एकत्रित हो या राजनैतिक और प्रशासनिक ताकत के दम पर । और उस भीड़ में अपनी राजनीतिक हिस्सेदारी बना बैठते हैं शिवराज । 
अगर बात राजनेता के तौर पर करें तो मुख्यमंत्री बनने से लेकर आज तक भले ही भाजपा के तानाशाह प्रतीक के तौर पर स्थापित हो चुके राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह शिवराज के पर कतरने के पूरे प्रयास कर चुके हैं ।  शिवराज आज भी मध्यप्रदेश की राजनीति में अपने आप को स्थापित किए हुए हैं । शिवराज ने इस दरमियान भाजपा के ही अपने कई राजनीतिक प्रतिद्वंद्वी को ठिकाने लगाने का काम किया है । ये सब उस दौरान शिवराज ने किया जब शिवराज के प्रतिद्वंदियों को अमित शाह और नरेंद्र मोदी का वरदहस्त प्राप्त था । आज शिवराज को मध्यप्रदेश में भले ही अलग-थलग करने का प्रयास किया जा रहा हो लेकिन इसके बावजूद मोदी और शाह को अगर भारतीय जनता पार्टी में किसी नेता से खतरा है तो वो एकमात्र शिवराज सिंह चौहान है ।
बात अगर आज की करें तो आज शिवराज सिंह चौहान का जन्मदिन है और भारतीय जनता पार्टी का व्यवहार देखने लायक है । भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र दामोदर दास मोदी आज मध्यप्रदेश के दौरे पर धार जिले में है। शिवराज का जन्मोत्सव भोपाल में मनाया जा रहा है । शिवराज को दोनों जगह रहना है लेकिन देश की आर्थिक तौर परसबसे संपन्न पार्टी भाजपा ने अपने इस नेता के लिए एक हैलीकाप्टर मुहैया कराने में गुरेज किया है । ये वही शिवराज हैं जिन्होंने भाजपा के आला नेताओं को राजनीतिक अय्याशियां कराने के लिए सरलता और सहजता के साथ विमान उपलब्ध करवाएं थे ।
शिवराज प्रदेश भाजपा कार्यालय भी सीमित समय के लिए शायद इसीलिए जाते हैं कि उनके प्रति अपनाए जा रहे व्यवहार से विवाद न पनपे ।

Share:

Next

मोदी और शाह आज भी डरते हैं शिवराज से


Related Articles


Leave a Comment